अजब गजबछत्तीसगढ़मुख्य समाचारराज काज

मोबाइल के चक्कर में सिंचाई डैम का पानी बहा दिया

छत्तीसगढ़ के अधिकारी का अजीब कारनामा और निलंबित हुए

राष्ट्रीय खबर

रायपुरः छत्तीसगढ़ के अधिकारी ने सेल्फी लेने के दौरान गिरा फोन देखने के लिए सिंचाई जलाशय को खाली कर दिया। यह अधिकारी कांकेर जिले में एक खाद्य निरीक्षक है। अपने 1.25 लाख रुपये के मोबाइल फोन की खोज के लिए कथित रूप से परालकोट जलाशय से 21 लाख लीटर पानी निकालने के बाद निलंबित कर दिया गया है।

पता चला है कि वहां पर सेल्फी लेने के चक्कर में उनक हाथ से मोबाइल डैम में गिर गया था। खाद्य निरीक्षक राजेश विश्वास के निलंबन का आदेश जिलाधिकारी प्रियंका शुक्ला ने जारी किया है। विश्वास अपने दोस्तों के साथ तैरने के लिए सिंचाई पहल के हिस्से के रूप में बनाए गए बांध पर गए थे।

स्थानीय मीडिया रिपोर्टों के अनुसार, विश्वास ने मौखिक रूप से अनुविभागीय अधिकारी (एसडीओ) से जलाशय से 5 फीट पानी निकालने की अनुमति मांगी थी, जिसका स्तर 15 फीट से अधिक था, यह दावा करते हुए कि फोन में विभागीय जानकारी थी। हालांकि, अंततः 10 फीट पानी निकाला गया, जिसमें 30 हॉर्स पावर के दो डीजल पंप सोमवार शाम से पूरे 3 दिनों के लिए तैनात किए गए थे।

बाद में यह राज खुल गया कि पूरी तरह से निजी पहल थी जिसमें कोई सरकारी संसाधन नहीं था। जब सिंचाई अधिकारी को इसके बारे में पता चला और वे मौके पर पहुंचे। फोन अंततः गुरुवार को मिल गया, लेकिन पानी की क्षति के कारण यह काम नहीं कर रहा था।

जब फोन पहली बार गिरा तो विश्वास ने आस-पास के लोगों से इसमें गोता लगाने और इसे खोजने के लिए कहा। लेकिन गहराई एक बाधा थी। तभी ऑपरेशन शुरू हुआ। गोताखोरों से सफलता हाथ नहीं लगने के बाद इस सिंचाई डैम के पानी एक नाले में डाला गया था, जो पास की देवड़ा नदी से जुड़ा है।

जो पानी सिर्फ सवा लाख के मोबाइल के लिए बहा दिया गया, उससे 1,500 एकड़ जमीन की सिंचाई हो सकती थी। स्थानीय लोगों ने कहा कि बांध जानवरों के लिए पानी का एक स्रोत है। अब पानी का स्तर कम होने से यह सभी को प्रभावित करेगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button