देशराजनीतिसंपादकीय

कॉपीराइट या किसी की हवा टाईट सोचते रहिए

एक गीत का धून का बिना अनुमति इस्तेमाल करने के लिए राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रो को सूचना तकनीक का झटका लगा है। कर्नाटक की एक अदालत ने  भारत जोड़ो यात्रा  और कर्नाटक कांग्रेस के ट्विटर हैंडल को ब्लॉक करने का आदेश दिया है। अदालत का यह फैसला एमआरटी म्यूजिक के प्रबंधन देखने वाले एम नवीन कुमार की शिकायत के बाद सामने आया है। जिसमें उन्होंने राहुल गांधी सहित तीन कांग्रेस नेताओं के खिलाफ कन्नड़ फिल्म केजीएफ -2 के संगीत का कथित रूप से उपयोग करने के लिए शिकायत दर्ज की थी।

शिकायत में कहा गया था कि संगीत का उपयोग कर उन लोगों ने कॉपीराइट कानूनों का उल्लंघन किया है। बेंगलुरु के यशवंतपुर पुलिस में दर्ज कराई गई प्राथमिकी में संगीत कंपनी की तरफ से कहा गया है कि कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने यात्रा के दो वीडियो ट्वीट किए, जिसमें बिना अनुमति के केजीएफ -2 के लोकप्रिय गीतों का इस्तेमाल किया गया था।

भारत जोड़ो यात्रा अब तक छह राज्यों केरल, तमिलनाडु, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना और महाराष्ट्र को कवर कर चुकी है। इस पर कांग्रेस ने ट्विटर पर ही यह कहा है कि मीडिया से यह पता चला है कि बेंगलुरु कोर्ट ने कांग्रेंस के सोशल मीडिया हैंडल को ब्लॉक करने का आदेश दिया है। हमें इस कार्यवाही के बारे में सूचित नहीं किया गया, ना हम कोर्ट में उपस्थित थे, ना ही आदेश की कॉपी मिली है।हम कानूनी सलाह ले रहे हैं।

बेंगलुरु के यशवंतपुर पुलिस में दर्ज कराई गई प्राथमिकी में संगीत कंपनी की तरफ से कहा गया है कि कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने यात्रा के दो वीडियो ट्वीट किए, जिसमें बिना अनुमति के केजीएफ -2 के लोकप्रिय गीतों का इस्तेमाल किया गया था। गौरतलब है कि भारत जोड़ो यात्रा का अगला पड़ाव अब महाराष्ट्र है जहां आदित्य ठाकरे राहुल गांधी के नेतृत्व में चल रही कांग्रेस की  भारत जोड़ो यात्रा  में शामिल हो सकते हैं। कांग्रेस की  भारत जोड़ो यात्रा  के सोमवार रात को महाराष्ट्र में प्रवेश करने की उम्मीद है। शिवसेना नेता सचिन अहीर ने संवाददाताओं से कहा कि आदित्य ठाकरे मराठवाड़ा क्षेत्र का दौरा कर रहे हैं और कांग्रेस की यह यात्रा भी इसी क्षेत्र से होकर गुजरेगी।

कांग्रेस द्वारा साझा किए गए कार्यक्रम के अनुसार, राहुल गांधी महाराष्ट्र की यात्रा के दौरान दो रैलियों को संबोधित करेंगे। पहली रैली नांदेड़ जिले में 10 नवंबर को और दूसरी रैली बुलढाणा जिले के शेगांव में 18 नवंबर को होगी। यात्रा 14 दिन में राज्य के 15 विधानसभा और छह संसदीय क्षेत्रों से होकर गुजरेगी। इस दौरान 382 किलोमीटर की दूरी तय की जाएगी और 20 नवंबर को यह मध्य प्रदेश में प्रवेश करेगी। यात्रा कार्यक्रम के अनुसार, चार दिन नांदेड़ जिले में पदयात्रा की जाएगी। यह यात्रा 11 नवंबर को हिंगोली जिले में, 15 नवंबर को वाशिम, 16 नवंबर को अकोला और 18 नवंबर को बुलढाणा से गुजरेगी।

इस यात्रा में अब तक जुट रही भीड़ निश्चित तौर पर भाजपा के लिए सरदर्द बनी हुई है, इस बात से अब कतई इंकार नहीं किया जा सकता है। इस यात्रा में शामिल कई लोगों ने तो भाजपा के बड़े नेताओं को एक दिन पैदल चलकर दिखाने तक की सार्वजनिक चुनौती दे डाली है। इससे पहली बार ऐसा लग रहा है कि भाजपा को इस मुद्दे पर बचाव की मुद्रा में आना पड़ा है। वरना इससे पहले भाजपा ने राहुल गांधी को पप्पू साबित करने में कोई कसर नहीं छोड़ी थी। अब यह माहौल बदलने के साथ साथ राहुल गांधी ने बड़ी चालाकी से अपनी जनसभाओं में उन मुद्दों को बार बार उठाना प्रारंभ कर दिया है, जिन पर भाजपा पर्दा डालने की कोशिश करत रही है।

इसलिए सिर्फ किसी एक फिल्म की धून के इस्तेमाल से ट्विटर पर रोक के आदेश से कोई राजनीतिक हित सधेगा, उसकी बहुत कम उम्मीद है। महाराष्ट्र से आगे के सफर में क्या कुछ होता है, इस पर भाजप का ध्यान रहेगा क्योंकि हिंदी पट्टी के इलाको में भी अगर इस भारत जोड़ो यात्रा का प्रभाव दिखा तो यह भाजपा के लिए दोगुणी परेशानी बढ़ाने वाली है। बदले माहौल का असर खास तौर पर टीवी चैनलों की बहस में भी दिख रहा है। इन बहसों में पहले विरोधी दलों से ही सवाल पूछे जाते थे।

मोदी समर्थक चैनल पत्रकारों को अब लगातार सवालों से खुद ही जूझना पड़ रहा है। मजबूरी में अब देश के असली मुद्दो की चर्चा में भाजपा को परेशानी हो रही है और उससे ज्यादा परेशानी उन पत्रकारों को हो रही है, जिन्होंने पहले स इसका ठेका ले रखा था। लिहाजा यह माना जा सकता है कि कॉपी राइट के जरिए एक ट्विटर पर रोक से वह राजनीतिक मकसद नहीं सधने जा रहा है, जिसकी कल्पना की गयी थी क्योंकि अब आम आदमी यात्रा में शामिल हो रहा है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button