अपराधकूटनीति

अपने ही देश में चीनी पुलिस स्टेशन की सूचना से अमेरिका परेशान

न्यूयार्क शहर में इस स्थान की तस्वीर उजागर

न्यूयार्कः चीन के बारे में यह पहले से ही शिकायत मिलती रही है कि वह देश के भागे अपने नागरिकों की जासूसी करता है। इसके अलावा चीन की नागरिकता वाले लोगों को दूसरे देशों में भी दंड देने का इंतजाम उसने कर रखा है। यह राज सबसे पहले सऊदी अरब में खुला था। वहां के उइगर मुसलमानों से वहां चीन का पुलिस थाना और यातना कक्ष होने की जानकारी से दुनिया को अवगत कराया था।

अब अमेरिकी सुरक्षा एजेंसियों इस सूचना से हैरान है कि उनके ही देश में चीन ने ऐसे पुलिस थाना खोल रखे हैं। एनजीओ सेफगार्ड डिफेंडर्स की रिपोर्ट में इसका खुलासा होने के बाद लोगों ने उस स्थान की तस्वीर भी सोशल मीडिया पर जारी कर दी, जहां यह अवैध पुलिस थाना चलता है।

अब एफबीआई के निदेशक क्रिस्टोफर व्रे ने अमेरिकी सीनेट कमेटी को बताया है कि एजेंसी इन रिपोर्टों पर नज़र बनाए हुए है। एफबीआई निदेशक ने कहा है कि हमें इन थानों के बारे में जानकारी है। निजी तौर पर चीन का हमारे देश के भीतर और न्यूयॉर्क जैसी जगह पर थाने खोलना बेहद आपत्तिजनक है। बिना किसी सूचना के ऐसा करना तो बिल्कुल ही सही नहीं है।

उन्होंने कहा कि इससे न सिर्फ़ अमेरिकी सार्वभौमिकता का उल्लंघन हो रहा है बल्कि ये अमेरिकी न्यायिक व्यवस्था की भी अनदेखी है।  वरिष्ठ खुफिया अधिकारी व्रे अमेरिका की सीनेट होमलैंड सिक्योरिटी कमेटी की सुनवाई के दौरान बोल रहे थे। इस दौरान उनसे कई वरिष्ठ सांसदों ने गंभीर सवाल पूछे हैं।

स्पेन में स्थित एनजीओ सेफगार्ड डिफ़ेंडर्स के मुताबिक़ चीन के पब्लिक सेफ़्टी ब्यूरो ने विदेशों में पुलिस सर्विस स्टेशन क़ायम किए हैं। ये थाने कई महाद्वीपों पर मौजूद हैं। इनमें से दो लंदन और ग्लासगो में हैं। उत्तरी अमेरिका में ये थाने टोरंटो और न्यूयॉर्क में हैं।  विदेशों में स्थित इन थानों का इस्तेमाल अंतरराष्ट्रीय अपराध को रोकना और विदेशों में बसे चीनी नागरिकों को प्रशासनिक सेवाएँ मुहैया करवाना है।

इन थानों में ड्राइविंग लाईसेंस जारी करने का दिखावे का काम होता है। यह लेकिन ये थाने ख़तरनाक मक़सदों को पूरा करने के लिए बने हैं। वैसे चीन ने ऐसे थानों के अस्तित्व से साफ इनकार किया है। अक्तूबर में अमेरिका ने सात चीनी नागरिकों के ख़िलाफ आपराधिक मामलों की जानकारी दी थी।  उन पर जासूसी करने और अमेरिका में रह रहे एक चीनी व्यक्ति को प्रताड़ित करने का केस चलाया गया है। चीनी सरकार इस व्यक्ति को वापिस चीन ले जाना चाहती थी। सेफगार्ड डिफ़ेंडर्स की रिपोर्ट के बाद पिछले महीने आयरलैंड की राजधानी डबलिन में ऐसे ही एक थाने को बंद करने के आदेश दिए गए थे। इसके बाद हाल ही में कनाडा की इंटेलिजेंस एजेंसी ने कहा है कि चीन की ओर से कनाडा की धरती पर अवैध थाने खोले जाने की जाँच हो रही है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button